हमारा परिचय

हमारे बारे में

“चर्च ऑफ गॉड वर्ल्ड मिशन सोसाइटी भारत में आपका स्वागत है!”

शब्द जो 3,372 से अधिक भाषाओं को एक कर रहा है वह ‘माता’ है। जैसी माता हमेशा अपनी संतानों का ख्याल रखती है वैसे ही भारत में चर्च ऑफ गॉड माता का प्रेम पूरा करता है। चर्च ऑफ गॉड भारत में माता के हृदय के साथ नमक और ज्योति बनता है।

जैसी माता हमेशा अपनी संतानों को अच्छी वस्तुएं देती है, वैसे एलोहीम परमेश्वर हमारा नेतृत्व जीवन जल के स्रोत की ओर करते हैं जिससे अनन्त जीवन फूट निकलता है। “आत्मा और दुल्हिन दोनों कहती हैं, ‘आ!’ जो कोई चाहे वह जीवन का जल सेंतमेंत ले।”

चर्च ऑफ गॉड वर्ल्ड मिशन सोसाइटी

चर्च ऑफ गॉड वर्ल्ड मिशन सोसाइटी एलोहीम परमेश्वर- पिता परमेश्वर और माता परमेश्वर पर विश्वास करता है। चर्च के सदस्य बाइबल की उस भविष्वाणी पर भी विश्वास करते हैं कि माता परमेश्वर को इस पृथ्वी पर शरीर धारण करके आना चाहिए।

माता परमेश्वर का प्रेम फैलाएं

सदस्यों ने परमेश्वर का प्रेम और बलिदान सीखा है। इसलिए सदस्य इस प्रेम को दुनिया में बांटने का अपना सर्वोत्तम प्रयास करते हैं। उन सभों के प्रयासों की नींव माता का प्रेम है। जिस प्रकार एक माता की चिंता अपनी संतान की भलाई है, उसी प्रकार चर्च ऑफ गॉड भी वही प्रेम को भले कार्य करते हुए समाज में बांटता है।

विश्व सुसमाचार

इसके अलावा, चर्च ऑफ गॉड वर्ल्ड मिशन सोसाइटी को भारत में सभी 1.3 अरब आत्माओं को बचाने के साथ-साथ विश्व सुसमाचार का मिशन भी सौंपा गया है। जैसे यीशु ने मत्ती 5:13 में कहा, वे अब नमक और ज्योति की भूमिका अदा कर रहे हैं जो इस दुष्ट संसार को शुद्ध करके प्रज्वलित करते हैं। इसलिए चर्च ऑफ गॉड के 25 लाख सदस्य पूरे संसार भर में नई वाचा का सत्य निरंतर प्रचार करता और पूरी ईमानदारी से सभी 7 अरब लोगों तक एलोहीम परमेश्वर का प्रेम पहुंचाता है। अब परमेश्वर की महिमा और उद्धार का मार्ग भारत में आया है।