हमारा परिचय

दुनिया भर में चर्च ऑफ गॉड

भविष्यवाणी के अनुसार, मसीह आन सांग होंग ने चर्च ऑफ गॉड वर्ल्ड मिशन सोसाइटी को स्थापित किया और वर्तमान समय में 175 देशों में 27 लाख सदस्यों के साथ 7,000 से अधिक स्थानीय चर्च हैं। माता परमेश्वर की शिक्षाओं का पालन करके जो ‘प्रेम देने’ का नमूना दिखाती हैं, चर्च हार्दिक हृदय से दुनिया को बदल रहा है।

चर्च ऑफ गॉड प्रथम चर्च के शुद्ध सत्य को मनाता है

चर्च ऑफ गॉड नई वाचा का सत्य और विश्वास सीखता है, जिसे यीशु ने, जो 2,000 वर्ष पहले इस पृथ्वी पर आए, स्वयं नमूना दिखाकर सिखाया और दिखाया। भले ही यीशु ने फसह का पर्व, सब्त, तीन बार में सात पर्व, इत्यादि सिखाए, लेकिन जैसे समय बीत गया, परमेश्वर की आज्ञाएं बदल दी गईं। हम प्रथम चर्च के नई वाचा के सत्य और विश्वास को जो बाइबल पर आधारित था, पुन:स्थापित कर रहे हैं।

चर्च ऑफ गॉड सच्चे प्रेम को अभ्यास में लाता है

माता परमेश्वर की अच्छी शिक्षाओं के अनुसार, चर्च ऑफ गॉड के सदस्य विभिन्न स्वयंसेवा कार्यों के द्वारा परमेश्वर के प्रेम का अभ्यास करते हैं; दुनिया भर में सफाई अभियान, रक्त अभियान, आपदा राहत, समुदाय समर्थन, इत्यादि। इन कार्यों के सम्मान में, चर्च ऑफ गॉड ने 2,000 से अधिक पुरस्कारों को पाया है, जिसमें बराक ओबामा की ओर से राष्ट्रपति स्वयंसेवा कार्य पुरस्कार, इंग्लैंड में स्वयंसेवा कार्य के लिए रानी का पुरस्कार, और प्रमुख राष्ट्रों की सरकारों और आधिकारिक संगठनों से पुरस्कार शामिल है।

चर्च ऑफ गॉड पिता परमेश्वर(मत 6:9) और माता परमेश्वर(गल 4:26) पर विश्वास करता है। चर्च ऑफ गॉड में आइए और प्रथम चर्च के शुद्ध सत्य को खोजिए जिसे 2,000 वर्ष पहले यीशु मसीह ने स्थापित किया था।

आत्मा और दुल्हिन दोनों कहती है, “आ!” और सुननेवाला भी कहे, “आ!” जो प्यासा हो वह आए, और जो कोई चाहे वह जीवन का जल सेंतमेंत ले।

प्रक 22:17