अब्राहम के परिवार का इतिहास

अब्राहम का वारिस परमेश्वर के वारिस को दर्शाता है

आइए हम “अब्राहम के परिवार का इतिहास” के बारे में पढ़ें। इसके द्वारा, हम समझ सकते हैं कि स्वर्ग के राज्य में कौन प्रवेश करेंगे। पहले, आइए हम धनी मनुष्य और लाजर का दृष्टन्त देखें जो यीशु ने हमें बताया।

“एक धनवान मनुष्य था जो बैंजनी कपड़े और मलमल पहिनता और प्रति दिन सुख–विलास और धूम–धाम के साथ रहता था। लाजर नाम का एक कंगाल घावों से भरा हुआ उसकी डेवढ़ी पर छोड़ दिया जाता था, और वह चाहता था कि धनवान की मेज पर की जूठन से अपना पेट भरे; यहां तक कि कुत्ते भी आकर उसके घावों को चाटते थे। ऐसा हुआ कि वह कंगाल मर गया, और स्वर्गदूतों ने उसे लेकर अब्राहम की गोद में पहुंचाया। वह धनवान भी मरा और गाड़ा गया, और अधोलोक में उसने पीड़ा में पड़े हुए अपनी आंखें उठाईं, और दूर से अब्राहम की गोद में लाजर को देखा। तब उसने पुकार कर कहा, ‘हे पिता अब्राहम, मुझ पर दया करके लाजर को भेज दे, ताकि वह अपनी उंगली का सिरा पानी में भिगोकर मेरी जीभ को ठंडी करे, क्योंकि मैं इस ज्वाला में तड़प रहा हूं।’”

लूक 16:19–24

जब लाजर मर गया, स्वर्गदूतों ने उसे अब्राहम की गोद में पहुंचाया। यदि हम बचाए जाएंगे और स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करेंगे, हम किसकी गोद में पहुंचाए जाएंगे? वह परमेश्वर की गोद है। और स्वर्ग में केवल किसे “पिता” कहा जा सकता है? वह परमेश्वर हैं। हालांकि, इस दृष्टान्त में किसे “पिता” कहा गया? अब्राहम को पिता कहा गया।

हम समझ सकते हैं कि बाइबल में अब्राहम परमेश्वर को दर्शाता है। इसलिए, अब्राहम का वारिस जिसने अब्राहम की संपत्ति का उत्तराधिकार प्राप्त किया, परमेश्वर के वारिस को दर्शाता है जो स्वर्ग के राज्य का उत्तराधिकार पाएंगे(गल 3:29)।

तीन उम्मीदवार जो अब्राहम के वारिस हो सकते थे

अब्राहम के परिवार में, तीन उम्मीदवार थे जो अब्राहम के वारिस हो सकते थे। पहला दास एलीएजेर, दूसरा इश्माएल और तीसरा इसहाक था।

पहले, अब्राहम ने सोचा कि एलीएजेर उसका वारिस होगा।

अब्राम ने कहा, “हे प्रभु यहोवा, मैं तो निर्वंश हूं, और मेरे घर का वारिस यह र्दिमश्कवासी एलीएजेर होगा, अत: तू मुझे क्या देगा?” और अब्राम ने कहा, “मुझे तो तू ने वंश नहीं दिया, और क्या देखता हूं कि मेरे घर में उत्पन्न हुआ एक जन मेरा वारिस होगा।” तब यहोवा का यह वचन उसके पास पहुंचा, “यह तेरा वारिस न होगा, तेरा जो निज पुत्र होगा, वही तेरा वारिस होगा।”

उत 15:2–4

परमेश्वर ने कहा कि एलीएजेर अब्राहम का वारिस न होगा, परन्तु उसका जो निज पुत्र होगा, वही उसका वारिस होगा।

हाजिरा को अब्राम के द्वारा एक पुत्र हुआ; और अब्राम ने अपने पुत्र का नाम, जिसे हाजिरा ने जन्म दिया था, इश्माएल रखा। जब हाजिरा ने अब्राम के द्वारा इश्माएल को जन्म दिया उस समय अब्राम छियासी वर्ष का था।

उत 16:15–16

हाजिरा अब्राहम की पत्नी सारा की दासी थी(उत 16:1)। अब्राहम से इश्माएल का जन्म हुआ, लेकिन उसकी माता एक दासी थी। परमेश्वर ने कहा कि इश्माएल अब्राहम का वारिस न होगा।

और अब्राहम ने परमेश्वर से कहा, “इश्माएल तेरी दृष्टि में बना रहे! यही बहुत है।” तब परमेश्वर ने कहा, “निश्चय तेरी पत्नी सारा के तुझ से एक पुत्र उत्पन्न होगा; और तू उसका नाम इसहाक रखना; और मैं उसके साथ ऐसी वाचा बांधूंगा जो उसके पश्चात् उसके वंश के लिए युग–युग की वाचा होगी।”

उत 17:18–19

परमेश्वर ने कहा कि वह जो वारिस होगा, उसे निश्चय सारा से उत्पन्न होना चाहिए। और उन्होंने उस पुत्र को अब्राहम के वारिस के रूप में बनाया, जिसका जन्म सारा से हुआ।

इसहाक के अब्राहम का वारिस होने का कारण क्या है?

आइए हम रेखाचित्र के द्वारा जानें।

पिता
(स्वतंत्र पुरुष)
माता
(स्वतंत्र स्त्री)
परिणाम
एलीएजेरX X X
इश्माएलO X X
इसहाक O O O

पहले, एलीएजेर के बारे में सोचें। उसका पिता स्वतंत्र पुरुष, अब्राहम नहीं था, और उसकी माता स्वतंत्र स्त्री सारा नहीं थी। इसलिए वह वारिस नहीं बन सका। दूसरा, इश्माएल स्वतंत्र पुरुष, अब्राहम से उत्पन्न हुआ, परन्तु उसकी माता दासी थी, वह भी वारिस नहीं बन सका। इसहाक स्वतंत्र पुरुष, अब्राहम और स्वतंत्र स्त्री सारा से उत्पन्न हुआ, इसलिए वह अब्राहम की संपत्ति का उत्तराधिकार प्राप्त कर सका।

इस्राएल में, जेठे पुत्र को जन्मसिद्ध अधिकार दिया जाता था। लेकिन इसहाक को वारिस के रूप में चुना गया। यह दिखाता है कि वारिस को चुनने के लिए माता का वंशक्रम ही निर्णायक कारक है।

हमें परमेश्वर का वारिस बनाने का निर्णायक कारक स्वर्गीय माता है

यह एक भविष्यवाणी है जो दिखाती है कि हम कैसे स्वर्ग के राज्य में प्रवेश कर सकते हैं। वह इसलिए क्योंकि अब्राहम स्वर्गीय पिता को दर्शाता है, और अब्राहम का वारिस परमेश्वर के वारिस को। स्वर्ग के राज्य का उत्तराधिकार पाने के लिए, हमें स्वतंत्र स्त्री माता की संतान होना चाहिए। दूसरे शब्दों में, केवल जो लोग स्वतंत्र स्त्री माता परमेश्वर पर विश्वास करते हैं और नई वाचा की संतान के रूप में फिर से जन्म लेते हैं, वे स्वर्ग के राज्य में जा सकते हैं।

बाइबल स्पष्ट रूप से गवाही देती है कि हमारे पास हमारी स्वर्गीय माता हैं जो स्वतंत्र हैं।

परन्तु ऊपर की यरूशलेम स्वतन्त्र है, और वह हमारी माता है।

गल 4:26

यहां पर, “हमारी” परमेश्वर की संतान को दर्शाता है जो बचाई जाएंगी। यदि हम स्वर्गीय माता की संतान नहीं होते, हम कभी भी परमेश्वर के वारिस नहीं बन सकते। इसी कारण बाइबल गवाही देती है कि हम इसहाक के समान प्रतिज्ञा की संतान हैं।

हे भाइयो, हम इसहाक के समान प्रतिज्ञा की सन्तान हैं।

गल 4:28

इसहाक अपनी माता के द्वारा अब्राहम की संपत्ति का उत्तराधिकार पा सका। इसलिए हम हमारी स्वर्गीय माता के द्वारा स्वर्ग के राज्य का उत्तराधिकार पाएंगे। यदि हम स्वर्गीय माता की संतान नहीं होते, हम कभी भी स्वर्ग के राज्य में प्रवेश नहीं कर सकते।

परन्तु पवित्रशास्त्र क्या कहता है? “दासी और उसके पुत्र को निकाल दे, क्योंकि दासी का पुत्र स्वतंत्र स्त्री के पुत्र के साथ उत्तराधिकारी नहीं होगा।” इसलिए हे भाइयो, हम दासी की नहीं परन्तु स्वतंत्र स्त्री की संतान हैं।

गल 4:30–31

इसलिए, हमें निश्चय ही स्वर्गीय माता की संतान होना चाहिए जो स्वतंत्र स्त्री हैं ताकि हम इसहाक के समान प्रतिज्ञा की संतान के रूप में स्वर्ग के राज्य का उत्तराधिकार पा सकें।

इसी कारण स्वर्गीय माता इस पृथ्वी पर आई हैं। आइए हम माता पर विश्वास करें, ताकि हम माता की संतान बन सकें और स्वर्ग के राज्य को वंशागत कर सकें।

Leave a Reply